शहर में नहीं रुक रही प्राइवेट स्कूलों की मनमानी फीस, ऑनलाइन एजुकेशन के नाम पर वसूल रहे हैं मनमानी फीस।


आज के समय में हर कोई चाहता है चाहे वो गरीब हो या अमीर, अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए , ऐसे में लोग अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में दाखिला करवाते हैं।
जैसा की सभी लोग जानते हैं की सरकार के निर्देशानुसार देश के सारे स्कूल/कॉलेज एवं शिक्षण संस्थान कोविड-19 के कारन बंद कर दिए गए हैं। ऐसे में बच्चो का स्कूल जाना भी बंद है। सारे स्कूलों को निर्देश है की वो चाहे तो अपने स्कूल के बच्चों को ऑनलाइन एजुकेशन दे सकते हैं। लेकिन इन चीज़ों का फायदा उठा कर आजकल प्राइवेट स्कूलों में ऑनलाइन एजुकेशन के नाम पर मोटी रकम वसूली जा रही है जो की बिलकुल गलत है।

मुंगेर जिला के युवा कांग्रेस अध्यक्ष तुषार ने अपने फेसबुक के माध्यम से इस बात पे आपत्ति जताई

मुंगेर जिला के युवा कांग्रेस अध्यक्ष तुषार ने अपने फेसबुक के माध्यम से इस बात पे आपत्ति जताई उनके अनुसार प्राइवेट स्कूल उनसे ऑनलाइन फेस के नाम पर 1600 रूपये की डिमांड कर रहे हैं। जो की अन्य दिनों के फीस के जैसा है। जब बच्चे स्कूल नहीं जा रहे, पढाई हो नहीं रही तो किस बात की फीस डिमांड कर रहे हैं

Photo by Tushar’s FB Profile

सरकार ने जारी की थी गाइडलाइन

हाल ही में सरकार ने एक गाइडलाइन जारी की थी की कोई भी प्राइवेट स्कूल, स्कूल की फीस एवं बस की फीस नहीं लेंगे, फिर भी क्या टूशन फीस/ऑनलाइन एजुकेशन फीस के नाम पर मोटी रकम वसूल करना जायज है ?

कमाई हो नहीं रही, अधिकतर आय के स्रोत बंद हैं, ऐसे में इतनी मोटी रकम लोग कहा से लाएंगे ?

सरकार को ऑनलाइन एजुकेशन फीस की भी एक गाइडलाइन जारी करना चाहिए। जीने लोगो को कुछ राहत मिल सके।

यदि आप सहमत है तो कृपया शेयर करें।

Visits: 161

By Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: